आलोचना

  • शरिया कोर्ट / दारुल क़ज़ा : भारतीय संविधान को खुली चुनौती ?

    मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) ने न्यायपालिका में विश्वास की कमी प्रदर्शित की जब उन्होंने एक ही बार में दिये/कहे गए 'ट्रिपल तालक' को अमान्य करार दिये गए सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का समर्थन नहीं किया। अब, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने घोषणा की कि वे देश के हर एक जिले में शरिया न्यायालय स्थापित करने...

  • देश की सर्वोच्च ख़ुफ़िया एजेंसी रॉ और उसके गद्दार ??

    कल दिल्ली में कांग्रेसी नेताओं, जिनमे पूर्व प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह, पूर्व उपराष्ट्रपति मियाँ हामिद अंसारी, तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिव्वल ने पाकिस्तानी इंटेलिजेंस एजेंसी ISI के पूर्व प्रमुख असद दुर्रानी और भारतीय एजेंसी R&AW के पूर्व प्रमुख आर॰एस॰ दौलत के द्वारा सयुक्त रूप से लिखी...

  • क्या dance और नृत्य एक ही बातें हैं?

    आदरणीय शिव कुमार जी ने फिल्मों में बढ़ती अश्लीलता को लेकर कल उचित चिन्ता व्यक्त की है। एक और विधा की तरफ ध्यान देने की आवश्यकता है। टीवी पर तो विशेषकर रियलिटी डांस शोज की भरमार आ गई है। नंगा नाचने वाले ये लोग खुद को कलाकार कहते हैं और अपने देहसटाओ प्रतियोगिता को नृत्य। क्या dance और ...

Share it