Top

राजनीति - Page 1

  • भारत में CoronaVirus से अधिक खतरनाक है Secularism का Virus

    भारत में सबसे खतरनाक वायरस सेक्युलरिज्म है। जो CoronaVirus से हजार गुना अधिक खतरनाक है। भारत का सेक्युलरिज्म वायरस दुनिया के लिए आतंक बन चुके CoronaVirus के विरुद्ध लड़ाई में सबसे बड़ी बाधा बन सकता है। दिल्ली में हाई अलर्ट है। दिल्ली सरकार ने स्कूल, सिनेमाघर बन्द करने के आदेश दे दिए है। आईपीएल (IPL)...

  • गुरुकुल और मदरसों में एक साथ हो छापेमारी, देखें कहां मिलते हैं हथियार: बाबा रामदेव

    योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा है कि देश में चरमपंथियों की संख्या बढ़ रही है। कुछ लोग पतंजलि योगपीठ के आचार्यकुलम को हिंदू मदरसा कह रहे हैं, अगर ऐसा है तो भारत के सभी मदरसों और गुरुकुल मंदिरों में एक साथ छापेमारी होनी चाहिए। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हिंदू मंदिर में कोई हथियार नहीं मिलेगा। CAA विरो...

  • CAA विरोध में मुस्लिम युवक ने पुलिस के सामने ही भीड़ पर चलाई अंधाधुंध गोलियां

    नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (सीएए) के खिलाफ बड़ी संख्या में लोगों के विरोध प्रदर्शन के बाद जाफराबाद के निकट समर्थक और विरोधी सीएए समूहों के बीच रविवार शाम को झड़पें हुईं, जबकि राष्ट्रीय के कई अन्य हिस्सों में भी इसी तरह के सिट-इन की शुरुआत की गई। राजधानी। नार्थ ईस्ट दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर इलाकों...

  • वारिस पठान के ज़हरीले बोल- 15 करोड़ मुसलमान 100 करोड़ हिंदुओं पर भारी

    CAA और NRC के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM) के नेता वारिस पठान ने बुधवार को एक विवादित बयान दिया। पठान ने कहा कि याद रखना हम 15 करोड़ हैं, लेकिन हम 100 करोड़ हिन्दुओं पर भारी हैं। ज्ञात रहे कि वारिस पठान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी का है। उसी वारिस ने कर्नाटक...

  • झूठ बोलके छली गई तू, बोल रे दिल्ली बोल - Transparency & Pardarshita

    ये कहानी है मुनीश रायज़ादा की। मि॰ रायज़ादा अमेरिका के शिकागो में रहते हैं। आप 'Neonatologist' यानी नवजात बच्चों के डॉक्टर हैं। लेकिन उनका एक और परिचय है। डॉक्टर रायजादा उन लोगों में से हैं जिन्होंने अन्ना आंदोलन के दौरान देश में बदलाव की उम्मीद देखकर अपना सबकुछ दांव पर लगा दिया था। अमेरिका में...

  • "जामिया मिलिया" - स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ़ इंडिया (SIMI) के कब्जे में जा रहा है ?

    जामिया मिलिया को फिरकापरस्तों से छुड़ाना होगा| आज इस गाँधीवादी सेक्युलर संस्थान पर दुबारा जिन्नावादियों का शिकंजा कस रहा है| आजादी के समय पहला हुआ था| बात कोई व्यंजनावाली नहीं है क्योंकि जामिया में हो रहे सिरफिरे छात्रों वाले हादसे से भारतीय राष्ट्र-राज्य के वैचारिक वैविध्य और बहुलतावादी समाज को आघात ...

  • "विषैलावामपंथ" पुस्तक एक मंजिल नहीं, एक यात्रा है

    कल शाम कॉलेज के बच्चों के एक झुण्ड से मिला। 20-22 साल के बच्चे, प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारियां करते हुए। उनका आधा घंटा समय चुरा कर उनसे बातें की। उन्हें उनकी भाषा में वामपंथ का विष समझाया।उनमें से एक लड़का वामियों के प्रभाव में था। उसने कुछ बेहद प्रासंगिक प्रश्न पूछे जिनका जवाब देने में मजा आया, और ...

  • नहीं थमी भूख और बेरोजगारी : बुन्देलखण्ड से पलायन लगातार जारी

    सरकारी दावे या आंकड़े कुछ भी कहें लेकिन एक बात आज भी सच है कि बुन्देलखण्ड (Bundelkhand) से पलायन अभी भी जारी है। रोजगार न होने की वजह से यहां के सैकड़ो परिवार इस समय रोजाना पलायन करने पर मजबूर हैं। आप रेलवे स्टेशनों और बस स्टेशनों पर देख सकते हैं कि कैसे काम की तलाश में अभी भी लोगों को बाहरी स्थानो...

Share it