सोनाली मिश्र

सोनाली मिश्र

प्रोजेक्ट एसोसिएट इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र राजभाषा विभाग


  • धर्म परिवर्तन के लहू पर ज़िंदा मज़हबी गिद्ध

    गिद्ध और शैतान कई दिनों से सोचा कि लिखा जाए या नहीं? या लिखूं तो क्या लिखूं? कोई क्या समझेगा? मगर मन में एक क्षोभ था, एक आक्रोश था, एक गुस्सा था. शायद पहली बार ऐसा हुआ जब किसी की मृत्यु ने मन में गुस्सा भरा! आखिर ऐसा क्या था अंडमान और निकोबार के उस द्वीप में जो चाऊ वहां पर गया, और एक बार नहीं बार...

  • न्यायपालिका : बहुसंख्यक समुदाय पर टेढ़ी नज़र ??

    कल के पटाखों को लेकर कई विचार हो सकते हैं। पर सच तो यही है कि पटाखों को आप प्रतिबंध लगाकर नहीं रोक सकते हैं। रोक तो जागरूकता से ही लगेगी। मगर जब तक यह भावना बलवती रहेगी कि एक ही धर्म पर कानून अत्याचार कर रहा है, न तो पटाखे चलने बंद होंगे और न ही आप इतने व्यापक पैमाने पर रोक पाएंगे। लोग जब देखते हैं...

Share it
Top