Top

अगर भारत के 30% मुस्लिम इकट्ठे हो जाएं तो बना सकते हैं 4 पाकिस्तान : शेख आलम (TMC)

अगर भारत के 30% मुस्लिम इकट्ठे हो जाएं तो बना सकते हैं 4 पाकिस्तान : शेख आलम (TMC)

अगर भारत के 30% मुस्लिम इकट्ठे हो जाएं तो बना सकते हैं 4 पाकिस्तान : शेख आलम (TMC)

जहाँ एक तरफ पश्चिम बंगाल चुनाव 2021 का चुनाव प्रचार अपने चरम पर है, तो वहीं कई राजनीतिक दलों के नेताओं की जुबान से जहरीली टिप्पणियों और विवादास्पद बयानों के को भी सुना जा सकता है।

नवीनतम मामला में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के नेता शेख आलम ने चुनाव प्रचार के दौरान विवादित बयान दिया है। उसके शब्दों से देश को एक बार फिर तोड़ने की धमकी के रूप में देखा जा सकता है। उसने कहा है कि "यदि भारत के मुस्लिम मतदाता एक तरफ हो जाएं तो चार नए पाकिस्तान बनाए जा सकते हैं"।

शेख ने देशद्रोह से भरे ये शब्द बीरभूम इलाके के नानूर के बासा पारा में टीएमसी समर्थकों की एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहे, उसने कहा कि ''हम 30 % (मुस्लिम) हैं और वे 70 % (हिंदू)। वो (बीजेपी) 70 % के समर्थन से सत्ता में आएगी, उन्हें शर्म आनी चाहिए। यदि हमारी मुस्लिम आबादी एक तरफ हो जाए तो हम 4 नए पाकिस्तान बना सकते हैं। 70 फीसदी आबादी कहाँ जाएगी?''

यह भी पढ़ें : धर्मांतरण जिहाद की भेंट चढ़ा एक और हिन्दू : इस्लामिक कट्टरपंथियों ने की हत्या

https://samachar24x7.com/main-news/national/islamic-extremist-killed-a-dalit-ramalingam-who-opposed-conversion-to-islam-786598

शेख ने यह टिप्पणी टीएमसी उम्मीदवार बिधान चंद्र माझी के लिए प्रचार के दौरान की, जो नानूर (एससी) बीरभूम से चुनाव लड़ रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शेख के बयानों पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि टीएमसी नेता ममता बनर्जी की तुष्टिकरण की राजनीति के कारण ऐसी टिप्पणी कर रहे हैं। भाजपा के आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय ने बयान का एक वीडियो ट्वीट करते हुए ममता बनर्जी पर निशाना साधा उन्होंने लिखा, "वह (शेख) स्पष्ट रूप से ममता बनर्जी के प्रति अपनी निष्ठा रखता है... क्या वह इस स्थिति का समर्थन करती है? क्या हम ऐसा बंगाल चाहते हैं?"

मालवीय ने आगे लिखा "शेख आलम जैसे टीएमसी नेताओं में पिछले 10 वर्षों में ममता बनर्जी की बेशर्म तुष्टीकरण की राजनीति के कारण 4 पाकिस्तान का सपना देखने की धृष्टता आई है। उन्होंने WB में बहुसंख्यक समुदाय को दूसरे दर्जे के नागरिक कर दिया, जहाँ उन्हें दुर्गा विसर्जन के लिए भी अदालत की मंजूरी लेनी पड़ती है।

बीजेपी ने बार-बार बनर्जी नेतृत्व पर तुष्टिकरण की राजनीति करने और अल्पसंख्यक समुदाय का पक्ष लेने का आरोप लगाया है।

पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान भी ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली सरकार के एक मंत्री ने इसी तरह की विवादास्पद टिप्पणी की थी। पिछले विधानसभा चुनाव में पांचवें चरण के मतदान से कुछ घंटे पहले, मंत्री फिरहाद हकीम ने गार्डन रीच क्षेत्र को "मिनी पाकिस्तान" घोषित किया था, जिसके कारण बहुत बहस हुई थी।

Share it