Top
  • शिवसेना : चेहरा - चाल - चरित्र

    मुंबई को भारत की आर्थिक राजधानी बनाने में वहाँ की कपड़ा मिलों की बहुत बड़ी भूमिका थी। मुंबई में सैकड़ों मिलें थीं, जिनमें लाखों मजदूरों को रोजगार मिला हुआ था। लेकिन मजदूर यूनियनों पर वामपंथियों का कब्जा था, जिसका मतलब था कि यहाँ लगातार हड़तालें होती रहती थीं, जिससे मिल-मालिक परेशान रहते थे। मिल-मालिकों...

Share it