Top

AIIMS में फिजियोथेरेपी पर पांच दिवसीय कार्यशाला एवं अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन संपन्न

AIIMS में फिजियोथेरेपी पर पांच दिवसीय कार्यशाला एवं अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन संपन्न

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (दिल्ली) में चला 5 दिवसीय "अंतर्राष्ट्रीय भौतिक चिकित्सक सम्मेलन" का कल समापन हुआ। सम्मेलन का आयोजन 7 दिसंबर 2017 से लेकर 11 दिसंबर 2017 तक किया गया था।
इस दौरान इस सम्मेलन में 11 कार्यशालाएं हुई, जिसमें प्रमुख मेनुअल थेरेपी ऑफ बैंक नेशनल इंस्टिट्यूट असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ॰ पी॰ पी॰ मोहंती द्वारा लिया गया साथ में मैनुअल थेरेपी ऑफ़ एंकल एंड फुट डॉ उमाशंकर महंती द्वारा लिया गया इनके अलावा डॉक्टर अचल श्रीवास्तव प्रोफेसर डिपार्टमेंट ऑफ न्यूरोलॉजी ने नर्व कंडक्शन वेलोसिटी पर कार्यशाला ली।
कार्यशाला के अलावा मुख्य सम्मेलन में जिसका उद्घाटन केंद्रीय राज्य मानव संसाधन मंत्री डॉ॰ सत्य पाल सिंह जी ने किया उन्होंने मुख्य अतिथि के रुप में यह बताया कि भौतिक चिकित्सा का महत्व आज के आधुनिक जीवन में काफी प्रसांगिक हो गया है और यह स्वास्थ चिकित्सा जगत का एक अहम भाग बन गया है। डॉ प्रभात रंजन आयोजक उपसचिव ने बताया कि सम्मेलन में भौतिक चिकित्सा से संबंधित विभिन्न विषयों के बारे में चर्चा की गई, चर्चा में इस बात पर भी ज़ोर दिया गया कि भौतिक चिकित्सा को इमरजेंसी मेडिसिन में सम्मिलित किया जाए और इमरजेंसी मेडिसिन विभाग में भौतिक चिकित्सकों की नियुक्ति की जाए।
सम्मेलन के कोषाध्यक्ष डॉक्टर पिंटू कुमार ने बताया कि इस सम्मेलन में कुछ लोगों को आयोजन समिति ने भौतिक चिकित्सा में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए सम्मानित भी किया। जिनमें प्रमुख भारतीय भौतिक चिकित्सक संघ के अध्यक्ष डॉक्टर संजीव झा डॉक्टर धनेश कुमार डॉ॰ पी॰ पी॰ मोहंती एवं डॉक्टर उमाअंजलि दमके है। पटना के प्रमुख भौतिक चिकित्सक डॉ सुजीत कुमार ने बताया की इस सम्मेलन में ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, श्रीलंका एवं बांग्लादेश के साथ ही अन्य देशों से भी वक्ताओं ने अपनी-अपनी विचार व्यक्त किए।

Share it