कश्मीर के राजौरी में आतंकी द्वारा ग्रेनेड ब्लास्ट में दो साल के बच्चे की मौत सहित 6 घायल

कश्मीर के राजौरी में आतंकी द्वारा ग्रेनेड ब्लास्ट में दो साल के बच्चे की मौत सहित 6 घायल

कश्मीर के राजौरी में आतंकी द्वारा ग्रेनेड ब्लास्ट में दो साल के बच्चे की मौत सहित 6 घायल

जम्मू-कश्मीर के राजौरी में कल शाम एक स्थानीय भाजपा नेता जसबीर सिंह (36 वर्षीय) के घर के अंदर ग्रेनेड फटने से दो साल के बच्चे की मौत हो गई और छह लोग घायल हो गए।

पिछले सोमवार को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में भाजपा सरपंच गुलाम रसूल डार और उनकी पत्नी की हत्या के ठीक चार दिन बाद, उग्रवादियों ने आज रात राजौरी शहर के मध्य में भाजपा मंडल अध्यक्ष के आवास पर शक्तिशाली ग्रेनेड फेंका, जिसमें उनके दो वर्षीय भतीजे की मौत हो गई और छह परिवार घायल हो गए।

यह ग्रेनेड हमला स्वतंत्रता दिवस समारोह से ठीक तीन दिन पहले और जम्मू और कश्मीर राज्य से धारा 370 समाप्त किए जाने की दूसरी वर्षगांठ के ठीक एक सप्ताह बाद किया गया।

इस्लामिक आतंकी संगठन पीपुल्स एंटी फासिस्ट फ्रंट (पीएएफएफ) ने ग्रेनेड हमले की जिम्मेदारी ली है। हालांकि एजेंसी द्वारा दावे का पता लगाया जा रहा है।

जसबीर सिंह के दो वर्षीय भतीजे की विस्फोट में लगी घातक चोटों के कारण अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। इस आतंकी घटना में मारा गया 2 वर्षीय मासूम 'वीर' भाजपा मंडल अध्यक्ष जसबीर सिंह के बढ़े भाई बलबीर सिंह का पुत्र था।

सूत्रों ने बताया कि बच्चे का शव अंतिम संस्कार के लिए परिवार को सौंप दिया गया है।

जिस समय जसबीर सिंह के घर पर ग्रेनेड फेंका गया उस समय उनके और उनके भाई बलबीर सिंह के परिवार के सदस्य घर की गैलरी में बैठे थे। शक्तिशाली ग्रेनेड धमाके के साथ फट गया, जिससे दोनों परिवारों के सात सदस्य घायल हो गए और एक मासूम की जान चली गई।

घायलों में जसबीर सिंह (36 वर्ष) सहित उनके बढ़े भाई बलबीर सिंह (42 वर्ष), उनके पिता रोमेश चंदर (65 वर्ष), और मां माता-सिया देवी (60 वर्ष), करम सिंह (12 वर्ष, पुत्र बलबीर सिंह) और अर्जुन सिंह (12 वर्ष, पुत्र कुलबीर सिंह), शामिल हैं.

भाजपा की जम्मू-कश्मीर इकाई के प्रमुख रविंदर राणा ने पुलिस से जिम्मेदार लोगों को तुरंत गिरफ्तार करने की अपील की है।

इस हमले के बारे में जसबीर सिंह के परिवार ने सुरक्षा एजेंसियों पर अपर्याप्त सुरक्षा देने का आरोप लगाया है।

परिवार के अनुसार उनके घर पर ग्रेनेड फेंका गया है। प्रारंभिक जाँच से तथ्य सामने आया है कि यह विस्फोट छत पर हुआ।

आतंकी हमले के तुरंत बाद, जीएमसी राजौरी में परिवार के सदस्यों और स्थानीय लोगों के साथ अस्पताल और पुलिस में सुविधाओं की कमी और भाजपा नेता को सुरक्षा प्रदान नहीं करने के लिए नागरिक प्रशासन के खिलाफ नारे लगाने के साथ विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया। नारेबाजी करते लोगों ने आरोप लगाया कि अस्पताल में एक ही डॉक्टर उपलब्ध है।

इसके बाद स्थानीय लोगों ने बंद का आह्वान किया और शहर के अधिकांश हिस्सों में दुकानें बंद हैं।

इस बीच, भाजपा महासचिव, प्रभारी जम्मू-कश्मीर, तरुण चुग ने भाजपा नेता के घर पर हमले की निंदा की है।

चुग ने आज रात ट्वीट किया, हम भाजपा नेता जसबीर सिंह और उनके परिवार पर पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों के कायरतापूर्ण हमले की निंदा करते हैं।

यह घटना राजौरी में एक 24 वर्षीय व्यक्ति की उसके घर के अंदर हत्या करने के एक दिन बाद हुई, जिसके बाद स्थानीय लोगों ने जम्मू-पुंछ राजमार्ग को अवरुद्ध कर दिया।

चकली गांव में अज्ञात हमलावरों ने अंकुश शर्मा के घर के अंदर धारदार हथियार से हमला कर दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

स्वतंत्रता दिवस से पहले कश्मीर में भाजपा कार्यकर्ता के घर पर किए गए इस आतंकी हमले की घटना एक बार फिर घाटी में नागरिकों, विशेषकर भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए सुरक्षा खतरे को उजागर करती है।

Share it