6 अगस्त को 2022 के "Sankalp Se Siddhi Awards" का आयोजन दिल्ली में हुआ

6 अगस्त को 2022 के Sankalp Se Siddhi Awards का आयोजन दिल्ली में हुआ

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री रामदास अठावले ने "अटल जी की स्मृति पर' होप एंड फेथ फाउंडेशन (एनजीओ)' द्वारा भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी की चतुर्थ पुण्य तिथि के वर्ष में "अटल स्मृति संवाद" एवं 2022 के "Sankalp Se Siddhi Awards" का आयोजन किया गया। यह आयोजन 6 अगस्त 2022 को नई दिल्ली के होटल Shangri-La Eros में सम्पन्न हुआ।

वैसे तो "अटल स्मृति संवाद" एवं "संकल्प से सिद्धि पुरस्कार" का आयोजन दिसंबर माह में माननीय अटल जी के जन्म दिवस पर किया जाता है लेकिन 2021 में कोरोना महामारी के कारण आयोजन रद्द करना पड़ा था।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री रामदास अठावले जी को अटल जी की स्मृति में संकल्प से सिद्धि का स्मृति चिन्ह भेंट किया गया

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री रामदास अठावले जी को अटल जी की स्मृति में संकल्प से सिद्धि का स्मृति चिन्ह भेंट किया गया

वर्ष2018 से 'होप एंड फेथ फाउंडेशन (एनजीओ)' द्वारा इसका आयोजन अटल जी विचारों और मूल्यों को याद करने के लिए किया जाता है। इस अवसर पर संस्था द्वारा प्रतिभावन व्यक्तियों को "Sankalp Se Siddhi Awards" भी दिया जाता है, संस्था द्वारा पुरुस्कार का आरंभ लोगों के दृढ़ संकल्प और कड़ी मेहनत को सम्मानित करने के लिए 2018 में किया गया था। इस बार भी अपने - अपने क्षेत्र में असाधारण कार्य करने वाले एवं समाज के विकास में योगदान देने वाले लोगों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम की शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन एवं गणेश वंदना के साथ किया गया। Hope & Faith Foundation (NGO) के Founder President मि॰ अनिल वर्मा एवं करियर प्लस सोसाइटी के प्रबंध निदेशक मि॰ अनुज अग्रवाल ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने मुख्य अतिथि के रूप अपना समय देकर कार्यक्रम को सुशोभित किया एवं श्री जय प्रकाश (जे॰ पी॰ भाई) पूर्व मेयर - उत्तरी दिल्ली, एवं सामाजिक कार्यों में जाना माना नाम 'शहीद भगत सिंह सेवा दल' के संस्थापक और पद्मश्री जितेंद्र सिंह शंटी के साथ ही कार्यक्रम में राष्ट्रीय ख्याति के अनेक गणमान्य व्यक्तियों ने आकर आयोजन की शोभा बढ़ाई।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री रामदास अठावले ने "अटल जी की स्मृति पर व्याख्यान" में श्री अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व और योगदान को याद किया। पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए, उन्होंने उन्हें भारत के सबसे सम्मानित और प्रशंसा प्राप्त प्रधानमंत्रियों में से एक बताया। श्री अठावले ने उन्हें शालीनता, गरिमा और मर्यादा का मूर्त रूप बताते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री उत्कृष्ट राजनीतिज्ञ, प्रशासक, कवि और व्यक्ति थे। उन्होंने कहा कि कवि हृदय की संवेदनशीलता ने श्री वाजपेयी को प्रभावशाली लोगों के हितों की पूर्ति करने के बजाय आम जनता के कल्याण को सर्वोपरि रखने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने आगे कहा कि वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भी पूर्व प्रधानमंत्री के आदर्शों पर चल रहे हैं। उन्होंने विशेष रूप से बल दिया कि वर्तमान सरकार की 'सबका साथ, सबका विकास' विचारधारा वर्तमान सरकार के श्री वाजपेयी के आदर्शों के प्रति सम्मान का प्रमाण है।

उन्होंने अपने भाषण में समाज के वंचित और हाशिए के वर्गों को शिक्षा देने और अपने 25 साल पूरे करने पर बधाई देते हुए करियर प्लस सोसाइटी के प्रयासों की सराहना की। मंत्री जी ने आगे शिक्षा के क्षेत्र में वर्तमान सरकार की पहलों को रेखांकित किया। उनके अनुसार, नई शिक्षा नीति भारतीय उच्च शिक्षा की सफलता का मार्ग प्रशस्त करेगी और भारत को शिक्षा का वैश्विक केंद्र बनने की ओर ले जाएगी। उन्होंने करियर प्लस सोसाइटी से यह आग्रह किया कि वह अपना उत्कृष्ट कार्य जारी रखे और समाज के अधिक से अधिक वर्गों तक ज्ञान का प्रकाश पहुंचाए। उन्होंने सोसाइटी की भविष्य की योजनाओं के लिए निरंतर समर्थन और सहयोग का आश्वासन दिया।

उत्तरी दिल्ली के पूर्व मेयर जय प्रकाश (जिन्हें जनता 'जे पी भाई' के नाम से अधिक पुकारती है) ने अटल जी की विचारधारा एवं उनकी नीतियों की प्रशंसा करते हुये बताया कि उनका व्यक्तित्व कितना महान था।

शहीद भगत सिंह सेवा दल के अध्यक्ष और पद्मश्री से सम्मानित जितेंद्र सिंह शंटी ने कोविड-19 महामारी के दौरान हुये अपने अनुभवों को साझा किए। श्री शंटी ने बताया कि किस प्रकार कोरोना महामारी के मुश्किल समय में उनहोंने बचाव दल का गठन किया और शवों को श्मशान घाट तक पहुंचाने के लिए अपनी जान तक दांव पर लगा दी। उनकी बताओं को सुनकर वहाँ उपस्थित लोग संवेदनाग्रस्त हो गए।

Hope & Faith Foundation (NGO) एवं 'करियर प्लस एजुकेशन सोसाइटी' ने मिलकर "संकल्प से सिद्धि पुरस्कार-2022" का आयोजन किया। 'डायलॉग इंडिया ग्रुप' के साथ ही सिटीजन फर्स्ट (मासिक पत्रिका) एवं samachar24x7.com की टीम ने भी इस आयोजन में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया।।

इस वर्ष 'करियर प्लस एजुकेशन सोसाइटी' ने शिक्षा के क्षेत्र में सफलता के 25 वर्ष पूरे किए। 'करियर प्लस एजुकेशन सोसाइटी' के 25 वर्षों की सफल यात्रा भी एक प्रकार से 'संकल्प से सिद्धि' का एक सजीव उदाहरण है जिसके पीछे इसके निदेशक मि॰ अनुज अग्रवाल एवं मि॰ नीरज कुशवाह की लगन और मेहनत साफ दिखाई देती है।

Physiotherapists Confederation of Intellective (PCI) का सम्मान राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. रवि शंकर रवि लेते हुये

Physiotherapists Confederation of Intellective (PCI) का सम्मान राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. रवि शंकर रवि लेते हुये

अपने शुभारंभ भाषण में करियर प्लस सोसाइटी के प्रबंध निदेशक अनुज अग्रवाल ने 'करियर प्लस एजुकेशन सोसाइटी' का संक्षिप्त परिचय देते हुये आमंत्रित अतिथियों को अपने उद्देश्यों से अवगत कराया। उन्होंने निरंतर सहायता और समर्थन के लिए केंद्र और विभिन्न राज्य सरकारों के प्रति आभार व्यक्त किया। मि॰ अग्रवाल ने कोविड-19 महामारी में शिक्षा के क्षेत्र में सामने आईं चुनौतियों का किस प्रकार सामना किया उस पर अपने अनुभव भी साझा किए। उन्होंने बताया कि इस कोरोना महामारी के कारण शिक्षा क्षेत्र में भारी उथल-पुथल मची हुई है जिसके कारण अब ऑफलाइन के साथ ही सोसाइटी ऑनलाइन माध्यमों से भी छात्रों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। इस अवसर पर करियर प्लस ग्रुप के प्रबंध निदेशक अनुज अग्रवाल और नीरज कुशवाहा द्वारा सोसाइटी की उपलब्धियों और भविष्य की योजनाओं के बारे में प्रस्तुति दी गई और नया प्रॉस्पेक्टस जारी किया गया।

'संकल्प से सिद्धि पुरस्कार-2022' कार्यक्रम का संचालन होप एंड फेथ फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष डॉ अनिल वर्मा ने किया। डॉ अनिल वर्मा ने उपस्थित अतिथियों को संबोधित करते हुये अपने व्यक्तव्य में "संकल्प से सिद्धि" के उद्देश्य को परिभाषित करते हुये कहा कि एक 'दृढ़ संकल्पित' व्यक्ति चाहे तो वह अपने हर उद्देश्य को पूरा कर सकता है, लेकिन उसके लिए ये अतिआवश्यक है कि उद्देश की प्राप्ति होने तक वह व्यक्ति अपने संकल्प पर अडिग रहे।

आयोजन के दौरान, प्रतिष्ठित शिक्षकों को सफल समाज के प्रति उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

होप एंड फेथ फाउंडेशन एवं 'करियर प्लस एजुकेशन सोसाइटी द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में योगदान देने वाले व्यक्तियों को "संकल्प से सिद्धि पुरस्कार-2022" से सम्मानित करने के साथ ही समाज को सफल बनाने मे अपनी अग्रणी भूमिका निभाने वाले प्रतिष्ठित शिक्षकों को उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए भी "संकल्प से सिद्धि पुरस्कार-2022" सम्मानित किया गया। डॉ विजय वर्मा (प्रोफेसर - दयाल सिंह कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय); डॉ राजेंद्र कुमार (प्रोफेसर, हिंदू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय), डॉ रमेश प्रसाद (प्रोफेसर पाली भाषा), डॉ. पल्लवी मिश्रा (सहायक प्रोफेसर - अंग्रेजी और लेखक (द्विभाषी)), पुरस्कृत शिक्षकों की सूची में शामिल हैं। इनके साथ ही 2022 के "संकल्प से सिद्धि पुरस्कार" से सम्मानित कुछ नाम अग्रलिखित हैं :

1. श्री हिमांशु गुप्ता, IAS, शिक्षा निदेशक, दिल्ली

2. श्री सुरेंद्र मलिक, संयुक्त आयुक्त, IRS, दिल्ली

3. राकेश दहिया, IRS, सीमा शुल्क और केंद्रीय उत्पाद शुल्क, सोनीपत, हरियाणा,

4. राघवेंद्र प्रताप सिंह, IRS

5. अनिल कुमार यादव, ADJ, बनारस

6. करुणा सागर, महानिदेशक, निदेशक- आधुनिकीकरण, बीपीआरएंडडी, गृह मंत्रालय, नई दिल्ली

7. डॉ. अनु सिन्हा, सांस्कृतिक राजदूत ग्लोबल चैंबर ऑफ स्पोर्ट्स एंड कल्चर एंड एजुकेशन

8. सी.के.शर्मा, भारत के सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता, राष्ट्रीय सचिव (भारतीय मानवाधिकार परिषद)

9. डॉ. अजय कुमार सिंह, निदेशक अनुसंधान, ए जी बायो सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड हैदराबाद

10. Physiotherapists Confederation of Intellective (PCI), डॉ. रवि शंकर रवि,

11. डॉ. पीयूष देवेदी, एमडी, एंबिएंस वाटर, और नेक्स्टजेन एनर्जिया, नोएडा

12. माता सरोज जिंदल चैरिटेबल ट्रस्ट, मनोज कुमार जिंदल,

13. संजीव सभरवाल, सामाजिक कार्यकर्ता, बिजनेस मैन

14. कोमल वशिष्ठ, अधिवक्ता, दिल्ली उच्च न्यायालय,

15. अजीत मौर्य, सामाजिक कार्यकर्ता, व्यवसायी

16. रामदेव शर्मा, सामाजिक कार्यकर्ता, व्यवसायी

17. श्री गौरव गुप्ता, संस्थापक और अध्यक्ष, जीटीटीसीआई चार्टर, अध्यक्ष लायंस क्लब दिल्ली

18. मुकेश श्रीवास्तव, सामाजिक कार्यकर्ता, व्यवसायी

19. मंजीत नैन, सामाजिक कार्यकर्ता, व्यवसायी

20. श्री सिद्धार्थ जैन, महासचिव, फ्लेयर, सलाहकार ईपीएसआई और फिक्की

21. श. अमित त्यागी, वरिष्ठ पत्रकार और कार्यकारी संपादक, डायलॉग इंडिया ग्रुप

22. श्री संजीव शर्मा, संपादकीय सलाहकार, डायलॉग इंडिया ग्रुप

23. श्री मयंक मधुर, फिल्म, निर्माता

Share it