Top
Breaking News

कैंसर के कारण 67 साल की उम्र में "ज़िंदादिल" अभिनेता ऋषि कपूर का निधन

rishi-kapoor-passes-away-at-67- in-hn-Reliance-hospital -mumbai-tweets-amitabh-bachchanकैंसर के कारण 67 साल की उम्र में "ज़िंदादिल" अभिनेता ऋषि कपूर का निधन

दिग्गज अभिनेता बॉबी और चांदनी जैसी फिल्मों के प्रिय सितारे ऋषि कपूर का 30 अप्रैल गुरुवार को 67 साल की उम्र में मुंबई के अस्पताल में निधन हो गया । ऋषि कपूर को बुधवार सुबह मुंबई के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। ऋषि कपूर 2018 से कैंसर से जूझ रहे थे, और एक साल से इलाज के लिए अमेरिका में थे। अभिनेता के भाई, रणधीर कपूर ने बुधवार रात मीडिया को बताया कि उनकी तबीयत बिगड़ने के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

कपूर परिवार के एक बयान में कहा गया है कि ऋषि कपूर अंत समय तक " उल्लासपूर्ण/हंसमुख बने रहे" और "अंत तक डॉक्टरों का मनोरंजन करते रहे।" ऋषि कपूर, जो अपने जीवन में जीने के शौकीन थे, वो स्वयं को "एक मुस्कान के साथ याद रखना पसंद करेंगे, न कि आँसू के साथ,"

उनके निधन की पुष्टि करते हुए एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, "हमारे प्रिय ऋषि कपूर ल्यूकेमिया के साथ दो साल की लड़ाई के बाद आज सुबह 8.45 बजे अस्पताल में शांति से अंतिम सांस ली। डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मचारियों ने कहा कि उन्होंने आखिरी समय तक उनका मनोरंजन किया।

बयान में कहा गया कि "व्यक्तिगत नुकसान की इस घड़ी में, हम यह भी पहचानते हैं कि दुनिया बहुत मुश्किल और कठिन समय से गुजर रही है। इस समय सार्वजनिक रूप से इकट्ठा होने पर कई प्रतिबंध हैं। हम उनके सभी प्रशंसकों, शुभचिंतकों और परिवार के दोस्तों से अनुरोध करना चाहते हैं कि कृपया उन कानूनों का सम्मान करें जो इस समय लागू हैं।

ऋषि को 2018 में कैंसर का पता चला था और वह अपने कैंसर के इलाज के बाद पिछले साल सितंबर में न्यूयॉर्क से भारत लौटे थे। ऋषि कपूर को इस साल फरवरी में दो बार अस्पताल ले जाया गया था - पहली बार नई दिल्ली में, जहां वह एक पारिवारिक कार्यक्रम में भाग ले रहे थे, और फिर मुंबई में। दिल्ली में अस्पताल में भर्ती होने के बाद, मि॰ कपूर ने ट्वीट किया, "प्रिय परिवार, दोस्तों, दुश्मनों और अनुयायियों। मैं अपने स्वास्थ्य को लेकर आपकी सारी चिंता से अभिभूत हूं। धन्यवाद, मैं पिछले 18 दिनों से दिल्ली में रहा हूं और प्रदूषण के कारण मुझे एक संक्रमण ने पकड़ा, जिससे मुझे अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। "उन्होंने यह भी खुलासा किया कि डॉक्टरों ने उनके फेफड़ों पर एक पैच पाया था जिससे निमोनिया हो सकता था।

दो दिनों में फिल्म जगत के लिए दूसरी दुखद सूचना है - एक दिन पहले ही कैंसर के कारण इरफान खान का भी निधन हुआ। उसी दिन ऋषि कपूर को अस्पताल ले जाया गया, उनके भाई रणधीर कपूर ने समाचार एजेंसी PTI से कल पुष्टि की। रणधीर कपूर ने कहा, "वह अस्पताल में है। वह कैंसर से पीड़ित है और उसे सांस लेने में तकलीफ है, इसलिए वह अस्पताल में भर्ती है। वह अभी स्थिर है।"

ऋषि कपूर ने अपने करियर की शुरुआत अपने पिता राज कपूर की फ़िल्मों से की। एक बच्चे के रूप में, उन्होंने श्री 420 के गीत प्यार हुआ इकरार हुआ में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। उन्होंने 1970 की फिल्म मेरा नाम जोकर में अपने पिता के युवा समय की भूमिका निभाई, अपने प्रदर्शन के लिए सर्वश्रेष्ठ बाल कलाकार का राष्ट्रीय पुरस्कार जीता। 1973 में ऋषि कपूर ने डिंपल कपाड़िया के साथ बॉबी में एक वयस्क हीरो के रूप में अपनी शुरुआत की। पहली फिल्म ने ही कपूर को रातोंरात स्टार बना दिया और देश को एक नया नायक दिया। कपूर ने अपना संपूर्ण जीवन काम किया।

अभिनेता की आखिरी बॉलीवुड फिल्म अमिताभ बच्चन के साथ 2018 की फिल्म 102 नॉट आउट थी। ऋषि कपूर आखिरी बार नेटफ्लिक्स पर वेब सीरीज "द बॉडी" में नजर आए थे। उन्होंने इस साल की शुरुआत में दिल्ली में एक फिल्म की शूटिंग भी की।

ऋषि कपूर के परिवार में उनकी पत्नी और अभिनेता नीतू कपूर, बेटे रणबीर कपूर और बेटी रिद्धिमा कपूर साहनी हैं।

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शोक व्यक्त किया गया। राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट किया, "वह जीवन से इतना भरा हुआ था कि यह मानना मुश्किल है कि वह अब वहां नहीं है।" पीएम मोदी ने श्री कपूर को "बहुआयामी, धैर्यवान और जिंदादिल" बताया और कहा कि उन्हें अपने सोशल मीडिया पर होने वाली बातचीत याद होगी

Share it