Top

हेडगेवार भारत माँ के महान सपूत थे : श्री प्रणव मुखर्जी

हेडगेवार भारत माँ के महान सपूत थे : श्री प्रणव मुखर्जी

"आज मैं यहाँ भारत माँ के महान सपूत के॰ बी॰ हेडगेवार को सम्मान और श्रद्धांजलि देने आया हूँ" पूर्व राष्ट्रपति माननीय प्रणव मुखर्जी

ये शब्द आज नागपुर में संघ के कार्यालय में माननीय हेडगेवार को अपने श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुये कहे।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी नागपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालय बुधवार को पहुंचे थे। माननीय मुखर्जी आज वहाँ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित हैं। जिस दिन से श्री मुखर्जी ने नागपुर में संघ के मुख्यालय में जाकर आरएसएस के प्रशिक्षुओं को संबोधित करने के लिए अपनी सहमति दी है उसी दिन से इस घटना ने पूरे राजनीतिक जगत में मुख्यतः कांग्रेस में एक हलचल और विवाद पैदा को जन्म दे दिया है।

सूत्रों के अनुसार पूरे देश से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लगभग 700 स्वयंसेवक शिविर में भाग लेंगे, जिसे संघ की भाषा में संघ शिक्षा वर्ग (संघ प्रशिक्षण वर्ग) भी कहा जाता है। आरएसएस के अनुसार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने प्रतिष्ठित लोगों को वार्षिक आयोजन में बुलाए जाने की अपनी परंपरा को ध्यान में रखते हुए ही पूर्व राष्ट्रपति को आमंत्रित किया है


Share it