पीडीपी, एनसी और कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर में सरकार बनाने के लिए हाथ मिलाया

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी, पीडीपी, मुजफ्फर हुसैन बेग, बीजेपी, साजद लोन, एनसी, कांग्रेस, अल्ताफ बुखारी, नेशनल कॉन्फ्रेंस, राहुल गांधी, Peoples Democratic Party, PDP, Muzaffar Hussain Baig, BJP, Sajad Lone, NC, Congress, Altaf Bukhari, National Conference, Rahul Gandhiपीडीपी, एनसी और कांग्रेस ने मिलाया हाथ

वरिष्ठ पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने बीजेपी सहयोगी साजद लोन के पीछे तीसरे मोर्चे पर कब्जा करने के एक दिन बाद तीन प्रमुख मुख्यधारा के राजनीतिक दलों - पीडीपी, एनसी और कांग्रेस ने साथ मिलकर सरकार बनाने का फैसला किया है।

वरिष्ठ पीडीपी नेता और पूर्व वित्त मंत्री अल्ताफ बुखारी मुख्यमंत्री पद की दौड़ में सबसे आगे माने जा रहे हैं। सूत्रों ने कहा कि पीडीपी अध्यक्ष मेहबूबा मुफ्ती चाहते थे कि फारूक अब्दुल्ला गठबंधन का नेतृत्व करें, नेशनल कॉन्फ्रेंस ने सरकार का हिस्सा न बनकर और पीडीपी-कांग्रेस गठबंधन को बाहर से समर्थन देने का फैसला किया है। सूत्रों ने कहा कि बुखारी मुख्यमंत्री पद के लिए आम सहमति से चुने जाने वाले उम्मीदवार हैं।

एक वरिष्ठ पीडीपी नेता ने बताया, "गठबंधन की शाम तक घोषणा की जाएगी और उसके बाद गठबंधन की सभी सहयोगी दल गवर्नर से मिलेंगे और सरकार के लिए दावेदारी करेंगे।"

नेशनल कॉन्फ्रेंस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि दोनों प्रतिद्वंद्वी दलों ने जम्मू-कश्मीर की विशेष स्थिति की रक्षा के लिए हाथ मिलाया है। उन्होने कहा कि तीन प्रमुख राजनीतिक दलों ने गठबंधन करने का फैसला किया है, जबकि हमें आशंका है कि केंद्र राज्यपाल से विधानसभा को भंग करने के लिए कहेंगे और सरकार न बनने देने का हर संभव प्रयास करेंगे। "हम दोनों तरीकों से खुश हैं," उन्होंने कहा।

जबकि पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के पास विधानसभा में 28 सीटें हैं, नेशनल कॉन्फ्रेंस के पास 15 और कांग्रेस के पास 12 सीटें हैं। तो तीनों पार्टी मिल कर 55 सीटों के साथ बहुमत हासिल करेंगी।

Share it
Top