Top

निर्मला सीतारमण ने सुखोई में उडान भर, वायु सेना की ताकत को परखा

Nirmala Sitharaman in Sukhoi tested capability of air forceNirmala Sitharaman in Sukhoi tested the capability of air force

नौसेना के विमानवाहक पोत आई एन एस विक्रमादित्य में नौसेना की मारक क्षमता का जायजा लेने के बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज वायु सेना के लड़ाकू बेड़े के प्रमुख विमान सुखोई में उडान भर वायु सेना की ताकत को परखा।
वायु सेना के अनुसार श्रीमती सीतारमण ने आज दोपहर जोधपुर वायु सेना स्टेशन से लड़ाकू विमान सुखोई-30 एमकेआई में उडान भरी। उडान भरने के समय उन्होंने पायलट द्वारा पहना जाने वाला जी सूट पहना हआ था। उडान से पहले पायलट ने कॉकपिट में उन्हें सुखोई की कार्य प्रणालियों तथा उडान से संबंधित अन्य जानकारी दी। लड़ाकू विमान में उडान भरने वाली वह देश की पहली महिला रक्षा मंत्री हैं। रक्षा मंत्री की यह उडान तीनों सेनाओं की सैन्य संचालन तैयारियों और लड़ाकू क्षमता की समीक्षा की योजनाओं का हिस्सा है।
देश की पहली पूर्ण रक्षा मंत्री के तौर पर मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालने के बाद से ही श्रीमती सीतारमण ने तीनों सेनाओं की तैयारियों और जरूरतों का जायजा लेने के लिए अग्रिम मोर्चों तथा अन्य सैन्य ठिकानों का दौर कर रही हैं। इसी के तहत उन्होंने गाेवा के निकट नौसेना की ताकत और मारक क्षमता की जानकारी हासिल करने के लिए पिछले सप्ताह ही दो दिन तक गोवा के निकट नौसेना के संचालन अभ्यास का निरीक्षण किया था। इस दौरान वह रात में विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य में रूकी थी।
इससे पहले चीन से लगती सीमा पर अग्रिम चौकियों का व्यापक दौर कर चुकी हैं। वह वायु सेना के अग्रिम ठिकानों पर भी गयी हैं।
सुखोई -30 एमकेआई दो सीट वाला भारतीय वायुसेना का अग्रिम पंक्ति का लड़ाकू विमान है और यह पिछले 15 वर्ष से अधिक समय से वायु सेना के बेड़े की शान बढ़ा रहा है। सुखोई-30, 2600 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से 3000 किमी की दूरी तक जा कर मार कर सकता है। सुखोई-30 से एक साथ 12 बम या प्रक्षेपास्त्र दागे जा सकते हैं। विमान में 30 एमएम की एक तोप भी लगी है।

Share it