Top

एनडीटीवी की आंखो पर शरिया (दारुल कज़ा) का चश्मा

ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, एन डी टी वी, शरीया कोर्ट, रविश कुमार, ऑल इण्डिया मुस्लिम विमेन्स पर्सनल लॉ बोर्ड, विश्व हिन्दू परिषद्, रंडीटीवी, All India Muslim Personal Law Board, All India Muslim Women Perosnal Law Board, Vish Hindu Parishad, AIMPLB, AIMWPLB, Shariya, NDNDTV की आँखों पर चढ़ा शरिया का चश्मा

एनडीटीवी (NDTV) एक बेशर्म झूठी चैनल है!

ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के देश के हर ज़िले में शरीया कोर्ट लागू करने के मंसूबों पर एनडीटीवी AIMPLB के बारे में कहती है कि वह "मुस्लिम मामलों की देश की सर्वोच्च निर्णायक संस्था है"

अब यह एन डी टी वी को किसने बताया कि AIMPLB मुस्लिम मामलों की सर्वोच्च निर्णायक संस्था है??

क्या एन डी टी वी को पता है कि AIMPLB की सदस्यता किसी अहमदिया मुस्लिम को नहीं मिलती क्यों कि AIMPLB उन्हें मुस्लिम नहीं मानता?

क्या एन डी टी वी को पता है कि शियाओं की 'ऑल इण्डिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड नाम से एक अलग संस्था है, और किसी विवाद के मामले में उसी शिया बोर्ड का निर्णय शिया सर्वोपरि मानते हैं?

क्या एन डी टी वी को पता है कि ऑल इण्डिया मुस्लिम विमेन्स पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMWPLB )नामक एक संस्था के सदस्य अक्सर AIMPLB के फ़रमानों को मानने से इंकार करते है?

क्या एन डी टी वी को पता है कि AIMWPLB के द्वारा AIMPLB पर अक्सर "मुस्लिम मर्दों की मुस्लिम मर्दों द्वारा मुस्लिम मर्दों के लिए चलाई जाने वाली संस्था" होने का आरोप किया जाता है? AIMPLB में केवल नाम के वास्ते १०% महिलाएं है, जो महज रबड़ की मोहर का काम करती हैं।

यदि ऊपर निर्दिष्ट तथ्य सही है, (और वे हैं!) तो एन डी टी वी AIMPLB को "मुस्लिम मामलों की सर्वोच्च निर्णायक संस्था" कैसे कह सकती है?

सच तो यह है की AIMPLB केवल एक निजी, 'गैरसरकारी' संस्था है, जो कुछ कट्टर मुस्लिमों द्वारा मुस्लिम मामलों पर सरकार दरबार पर दबाव बनाने के लिए स्थापित की गई है। इस की कोई संवैधानिक हैसियत नहीं है, और यह सारे मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व भी नहीं करती!

यदि एन डी टी वी का AIMPLB का वर्णन सही है, तो क्या वह विश्व हिन्दू परिषद् को "हिन्दू मामलों की सर्वोच्च निर्णायक संस्था" कहेगी? नहीं! किसी भी विवाद होने पर "विश्व हिन्दू परिषद् सभी हिन्दुओं का प्रतिनिधित्व नहीं करती" चिल्लाने के लिए एन डी टी वी कतार में पहले खडी पाई जाएगी!

यदि "विश्व" हिन्दू परिषद् सारे हिन्दुओं का प्रतिनिधित्व नहीं करती, तो AIMPLB सारे मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व कैसे कर सकती है?

एन डी टी वी, क्या तुम्हारे पास इस का कोई जवाब है? नहीं!

यूं ही नहीं सोशल मीडिया पर इस का नाम 'रंडीटीवी' है!

शुभ दिन मित्रों! जय श्रीराम!

(मूल अंग्रेजी लेख: Rakesh Srivastava जी, हिन्दी अनुवाद : कृष्ण धारासूरकर)


Share it