Top

नमामि गंगे: गंगा के साथ अब यमुना और सरयू की भी होगी सफाई

आज 13.06.2018 को जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय की ओर से राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के तहत दिल्ली के अशोक होटल में दो मुख्य समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए।

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी और श्री धर्मेंद्र प्रधान उपस्थित रहे। साथ ही केन्द्रीय जल संसाधन राज्य, नदी विकास और गंगा कायाकल्प, डॉ सत्यया पाल सिंह और जल संसाधन राज्य मंत्री, नदी विकास और गंगा कायाकल्प और संसदीय मामलों के मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल ने भी इस अवसर पर पहुँच कर शोभा बड़ाई।

हरिद्वार और वाराणसी में गंगा पर हाईब्रिड एन्युटी परियोजना की सफलता के बाद, मथुरा में यमुना पर सार्वजनिक-निजी साझेदारी के माध्यम से सीवेज इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये गये। सीवेज सेक्टर में वेस्ट वाटर से धन दृष्टिकोण को बढ़ावा देने के साथ ही साथ मथुरा रिफायनरी के लिए २ करोड़ लीटर वेस्ट वॉटर के पुनः उपयोग के लिए इंडियन ऑयल के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किया जायेगा। इसके साथ ही हमने क्लीन गंगा फंड से 205.14 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को स्वीकृति दे दी हैं।

इस अवसर पर गडकरी जी ने मंत्रालय द्वारा किए जा रहे प्रयासों को ब्यौरा पेश किया। उन्होने कहा कि हमारे तीर्थ स्थान गंदे रहते है जबकि बाहर के देशों में देखे तो सभी तीर्थ साफ रहते है, साथ ही उन्होने कहा कि हमें अपनी ज़िम्मेदारी समझनी होगी और सफाई की दिशा में कदम उठाने होंगे। उन्होने यह भी बताया कि मंत्रालय द्वारा न केवल गंगा बल्कि यमुना एवं उनकी सहायक नदियों जैसे हिंडन, काली आदि की सफाई के लिए भी कार्य किए जा रहे है। साथ ही गडकरी जी ने बोला कि आज का दिन उनके लिए अति महत्वपूर्ण है क्योंकि आज से उन्होने सरयू को साफ करने का जिम्मा भी उठाया है, उन्होने कहा की हम अब न केवल काशी एवं मथुरा बल्कि हमारे श्रद्धा के केंद्र अयोध्या की सरयू को स्वच्छ बनाने के लिए काम करेंगे।

उन्होंने यह भी कहा कि "दिल्ली में यमुना नदी के 35 किलोमीटर की दूरी पर एक विश्व स्तरीय पारिस्थितिक और पर्यावरण अनुकूल नदी फ्रंट पार्क विकसित करना मेरा सपना है।"

स्वच्छ गंगा (एनएमसीजी) के राष्ट्रीय मिशन ने 'गंगा स्वच्छछा पखवाड़ा' 2018 के दौरान सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर एक फोटो प्रतियोगिता आयोजित की जिसे 16 मार्च से 31 मार्च 2018 तक देखा गया था। फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर देश भर से 1900 से अधिक प्रविष्टियां प्राप्त की गईं। कुछ प्रविष्टियां बहुत ही उच्च गुणवत्ता वाली थीं और गंगा के विभिन्न पहलुओं को चित्रित करती थीं। माननीय मंत्री ने देश के विभिन्न हिस्सों से आए प्रतियोगिता के विजेताओं को सम्मानित किया। आईआईटी-बीएचयू के श्री धनंजय भुवारा ने कोलकाता के एक पेशेवर फोटोग्राफर श्री राजू घोष के साथ पहला पुरस्कार साझा किया।

साथ ही इस अवसर पर येस बैंक ने नमामि गंगे प्रोजेक्ट के साथ हाथ मिलाया, अब पूरे भारत में व्यापक येस बैंक नेटवर्क का उपयोग करने के लिए, एटीएम और शाखाओं पर स्वच्छ गंगा संदेशों के प्रदर्शन के लिए मंत्रालय ने येस बैंक के साथ साझेदारी की है। यह स्वच्छ गंगा मिशन में शामिल होने के लिए बैंक की व्यापक पहुंच के माध्यम से बड़े पैमाने पर लोगों तक पहुंचने के लिए बैंकिंग सेट-अप के साथ साझेदारी करने के लिए एनएमसीजी द्वारा एक पहल है।

Share it