Top

मेरठ लव जिहाद : शमशाद ने हिन्दू नाम रख दिया धोखा, पोल खुली तो माँ-बेटी को जान से मारा

मेरठ लव जिहाद : शमशाद ने हिन्दू नाम रख दिया धोखा, पोल खुली तो माँ-बेटी को जान से मारामेरठ लव जिहाद : शमशाद ने हिन्दू नाम रख दिया धोखा, पोल खुली तो माँ-बेटी को जान से मारा

मेरठ : लव जिहाद हत्याकांड का आरोपी शमशाद 23 जुलाई, गुरुवार सुबह पुलिस के साथ मुठभेड़ में घायल हो गया। बुधवार को हिरासत से भागने के बाद, पुलिस ने उस पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। इसके साथ ही, पुलिस ने सबूत जुटाने के लिए आरोपी के घर पर एक जेसी:बी मशीन द्वारा तोड़-फोड़ भी की।

उत्तर प्रदेश के ही मोदीनगर की रहने वाली चंचल ने 14 जुलाई को परतापुर पुलिस स्टेशन में अपनी दोस्त प्रिया और उसकी बेटी कशिश की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। दरअसल, तलाकशुदा प्रिया अपनी बेटी सहित लगभग पिछले पांच साल से परतापुर में शमशाद के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रह रही थी।

बिहार निवासी शमशाद ने फेसबुक पर अमित गुर्जर के नाम से एक झूठी आईडी बना रखी थी जिसके द्वारा वो हिन्दू लड़कियों को अपने जाल में फँसाने की कोशिश करता रहता था और उसकी इन्हीं कोशिशों का नतीजा था कि मोदी नगर की रहने वाली प्रिया (तलाक़शुदा) उसके जाल में फंस गई। शमशाद ने पहले तो प्रिया से दोस्ती की और फिर शादी का बहाना करके उसे मेरठ के परतापुर स्थित घर ले गया। उसने अपनी मुस्लिम पहचान छिपाते हुये प्रिया को अपना धर्म हिन्दू और नाम अमित गुर्जर ही बताया था।

सूत्रों के अनुसार जब प्रिया को उसकी इस जालसाजी की असलियत का पता चला तो उसने 2019 में पुलिस से शिकायत की लेकिन लापरवाह पुलिस के द्वारा उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। अगर उसी समय पुलिस उचित कार्रवाई करती तो शायद आज माँ-बेटी जिंदा होती।

पहले पुलिस चंचल की शिकायत पर कार्यवाही करने में ढील/लापरवाही कर रही थी लेकिन मामला सुर्खियों में आने के साथ ही कुछ हिंदू संगठनों द्वारा हंगामे के बाद, एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह ने कार्रवाई के निर्देश दिए, जिसके बाद पुलिस ने बुधवार को आरोपी शमशाद के घर की खुदाई की। जहां एक कमरे में दो कंकाल दफन पाए गए पुलिस के अनुसार अनुमान है कि ये दोनों कंकाल प्रिया और उसकी बेटी कशिश के ही होने चाहिए आगे की जांच के लिए दोनों कंकालों को फोरेंसिक लैब में भेज दिया गया है।

शायद ये मामला अभी भी सामने नहीं आता अगर प्रिया की दोस्त चंचल द्वारा तीन महीने तक अपने दोस्त के साथ संबंध स्थापित करने में विफल रहने के बाद उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज ना कराई गई जाती क्योंकि उसके बाद ही यह घटना सामने आई।

चंचल ने आरोप लगाया कि शमशाद ने अपनी मुस्लिम होने की बात छिपाकर उसकी दोस्त प्रिया को अपने प्रेम जाल में फंसाया था। इतना ही नहीं, काशीराम कॉलोनी स्थित प्रिया के फ्लैट को बेचकर उसका पैसा भी शमशाद ने हड़प लिया था।

जब शमशाद की वास्तविकता सामने आई तो उसने प्रिया के साथ मारपीट शुरू कर दी। इसी समय, दोनों के बीच कलह रहने लगी। सूत्रों के अनुसार 28 मार्च, 2020 को शमशाद और प्रिया के बीच लड़ाई हुई थी। जिसके बाद आरोपी शमशाद ने अपनी पहली पत्नी अफसाना के भाई के साथ मिलकर प्रिया और फिर उसकी बेटी कशिश का गला घोंट दिया। जीजा और साले ने मिलकर इस पूरी वारदात को अंजाम दिया और हत्या करने के बाद दोनों शवों को कमरे में ही गड्ढा खोद कर दफना दिया था ।

बुधवार को जब इस सनसनीखेज घटना का खुलासा हुआ तो हिंदू संगठन के लोगों ने हंगामा कर दिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया। लेकिन पुलिस के अनुसार शमशाद किसी तरह पुलिस की गिरफ्त से भाग निकला। एसएसपी अजय साहनी ने बुधवार रात को ही आरोपी पर 25,000 रुपये का इनाम घोषित कर दिया था।

एसएसपी ने कहा कि परतापुर पुलिस की गुरुवार सुबह ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र में नूर नगर मोड के पास शमशाद के साथ मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में शमशाद ने पुलिस पर गोलियां चलाईं। जवाबी फायरिंग में शमशाद को पैर में चार गोलियां लगने से घायल हो गया उसे तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत गंभीर है। पुलिस ने बताया कि शमशाद के कब्जे से एक पिस्टल, दो जिंदा गोली और एक मोटरसाइकिल बरामद की।

उनकी पहली पत्नी और उसके भाई भी कथित रूप से मामले में शामिल हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

Share it