"सीटीआई विमेन काउंसिल" नाम से चेम्बर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री ने आरंभ की अपनी महिला विंग

सीटीआई विमेन काउंसिल नाम से चेम्बर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री ने आरंभ की अपनी महिला विंग

Chamber of Trade and Industry (CTI) ने महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में एक पहल करते CTI Women Council का शुभारंभ किया।

सूत्रों के अनुसार Chamber of Trade and Industry में अभी तक Trade and Industry से जुड़े पुरूषों का ही वर्चस्व दिखाई देता था जिस कारण सीटीआई द्वारा महिला उद्यमियों के विकास में न तो पूर्ण सहयोग मिल पाता था और ना ही उन्हें Trade and Industry के क्षेत्र में हो रही कठिनाइयों का समाधान हो पाता था, जबकि वर्तमान समय में महिलाएं भी व्यापार एवं उद्योग के क्षेत्र में पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही हैं। महिलाओं की इन्हीं सब समस्याओं को ध्यान में रखते हुये सीटीआई के पदाधिकारियों ने महिलाओं के लिए महिलाओं के ही द्वारा संचालित होने वाली एक अलग विंग CTI Women Council की स्थापना का विचार किया और फिर कुछ समय पूर्व ही उसके गठन की प्रक्रिया को पूरा कर दिया गया था।

आज नई दिल्ली स्थित constitution club में सीटीआई द्वारा आयोजित किए गए एक समारोह "Launch of CTI Women Council Chamber of Trade and Industry" में सीटीआई ने महिलाओं के विकास में की गई उसी पहल को कार्य रूप देते हुये वीमेन काउंसिल का शुभारंभ किया।

इस आयोजन के मुख्य अतिथि थे दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री माननीय मनीष सिसोदिया जी, संस्था ने सीटीआई वीमेन काउंसिल का शुभारंभ भी उन्हीं के द्वारा कराया। महिलाओं के विकास के लिए गठित इस CTI Women Council के सभी पदों पर महिलाओं का ही चयन किया गया है। चयनित पदाधिकारी महिलाओं में प्रमुख नाम हैं अध्यक्षा - श्रीमती नेहा टंडन, जनरल सेक्रेटरी - मालविका साहनी एवं कोषाध्यक्ष - प्रियंका सक्सैना।

इस अवसर पर मनीष जी ने अपने सम्बोधन में भारतीय शिक्षा व्यवस्था की कुछ विशेष कमियों कि तरफ इशारा करते हुये कहा कि अभी तक की शिक्षा व्यवस्था का उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ नौकरी मांगने वाली भीड़ पैदा करना रहा है जबकि उनका एवं उनकी सरकार का ध्येय एक ऐसी शिक्षा व्यवस्था बनाना है जिसके शिक्षा संस्थानो से नौकरी मांगने वाले नहीं अपितु नौकरी देने वाले छात्र-छात्राओं का समूह निकले।

इस अवसर पर सीटीआई ने व्यापार एवं समाज के अनेक क्षेत्रों के विकास में अपना विशेष योगदान दे रही महिलाओं को मंच पर बुलाकर उप-मुख्यमंत्री जी के द्वारा सम्मानित कराकर उन्हें भेंट स्वरूप स्मृति चिन्ह भी दिये गए। इस सम्मान का मुख्य उद्देशय महिलाओं में आत्मविश्वास एवं सशक्तिकरण का भाव जाग्रत करना था।


आज के समारोह की सबसे विशेष बात ये रही कि आज मनीष जी का जन्मदिन भी था अतः इस शुभ अवसर का लाभ उठाते हुये सीटीआई विमेन कोनसिल की पदाधिकारियों एवं उपस्थित महिलाओं ने मनीष जी को जन्मदिना की शुभकामनायें देने के साथ ही यादगार स्वरूप उन्हें एक स्मृति चिन्ह भी भेंट किया।




Share it
Top