Top

अब हज यात्रा होगी सस्ती, समुद्री मार्ग से भी सकेंगे मक्का

अब हज यात्रा होगी सस्ती, समुद्री मार्ग से भी सकेंगे मक्काIndian Government plan to New Haj Policy

नयी दिल्ली (समाचार स॰) : हज यात्रियों के लिए मोदी सरकार देने जा रही है एक बड़ा तोहफा, करीब दो दशक बाद अब समुद्री मार्ग से मक्का जा सकेंगे।
हज पर जाने वाले यात्रियों की सुविधाओं में इज़ाफ़ा करते हुए केंद्र सरकार जल्द ही एक नई नीति लेकर आ रही है जिससे कि हज यात्रियों को हज जानें के लिए हवाई जहाज के महंगे किराए की चिंता नहीं करनी पड़ेगी वे पानी के जहाज से भी सऊदी अरब जा सकेंगे, जो कि हवाई जहाज के मुक़ाबले काफी सस्ता होगा।
ज्ञात रहे कि 1995 तक भी हज यात्री समुद्री मार्ग से हज जाया करते थे लेकिन 1995 के बाद से इस सुविधा को बंद कर दिया गया था। अब मोदी सरकार हज यात्रियों के फायदे के लिए इसे एक बार फिर खोलने कि पक्षधर है। केंद्र में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यह जानकारी देते हुए कहा कि इस मामले में सऊदी अरब सरकार से बात हो चुकी है और सरकार ने समुद्री मार्ग से हज यात्रा के भारत के प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है। शीघ्र ही दोनों देशों के अधिकारी इस विषय जरूरी कार्यवाही और तकनीकी पहलुओं पर विचार-विमर्श करेंगे ताकि आने वाले समय में समुद्री मार्ग से हज यात्रा शुरू की जा सके।
श्री नकवी और सऊदी अरब के हज एवं उमरा मंत्री डा मोहम्मद सालेह बिन ताहिर बेनतेन के बीच मक्का में कल हुई द्विपक्षीय वार्षिक हज समझौता -2018 पर हस्ताक्षर के दौरान यह फैसला लिया गया ।
हाई कोर्ट द्वारा 2012 में दिये गए आदेशानुसार केंद्र सरकार द्वारा हज यात्रियों को विमान के किराए में दी जा रही सब्सिडी को वर्ष 2022 तक समाप्त करना है। जिसके बाद हज यात्रियों को हज जाना काफी मंहगा हो जाएगा। इसलिए हज यात्रियों को मुंबई से जेद्दा भेजने के विकल्प पर विचार किया गया है। केंद्र सरकार का मानना है कि समुद्री मार्ग से यात्रा का खर्च कम होगा, जिससे लोगों को हज जानें में आसानी होगी।
सरकारी सूत्रों के अनुसार समुद्री मार्ग से एक बार में 4000 से 5000 तक यात्रियों को ले जाया जा सकता है। वैसे भी सऊदी अरब ने इस वर्ष से भारत का कोटा 1.36लाख से बढ़ाकर 1.70 लाख कर दिया है। पिछले वर्ष कुल 1.35 लाख यात्रियों हज पर गए थे।

Share it