Top

राहुल ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की दिखावटी औपचारिकता को पूर्ण किया

राहुल ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन की दिखावटी औपचारिकता को पूर्ण किया

नई दिल्ली, 4 दिसम्बर (एजेंसी) : आखिरकार आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी पार्टी के भीतर से उठते कुछ विरोध के स्वरों की अनदेखी करते हुये पार्टी नेताओं और कार्यकतार्ओं के बीच सोमवार को पार्टी मुख्यालय में पार्टी अध्यक्ष के पद के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल कर ही दिया।
राहुल ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं कमलनाथ, मोतीलाल वोरा, शीला दीक्षित, अहमद, अशोक गहलोत एवं पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर किए।
नामांकन के समय उपस्थित नेताओं एवं पार्टी कार्यकर्ताओं ने राहुल के साथ बातचीत की एवं अपनी शुभकामनाएं दी।
देखा जाए तो राहुल का चुनाव मात्र एक दिखावटी औपचारिकता ही है क्योंकि पार्टी के इस सबसे बड़े पद के लिए किसी भी कांग्रेसी नेता "पुराने या नए" की हिम्मत नहीं है कि वो राहुल के सामने खुलेआम स्वयं को उम्मीदवार घोषित कर सके है राहुल के चुनाव कि ये औपचारिकता इससे ही साबित होती है कि उनके पक्ष में 90 से अधिक नामांकन दाखिल किए जाने की संभावना है।
ध्यान रहे यहाँ राहुल अपनी माँ एवं पार्टी की अध्यक्ष उन सोनिया गांधी का स्थान लेंगे जोकि लगभग 20 साल से (1998 से) लगातार इस पद पर बनी हुईं हैं और इन 20 साल में कांग्रेस के अंदर कोई एक ऐसा नेता/व्यक्तित्व उभर नहीं पाया या उभरने नहीं दिया गया जो उनके इस नेत्रत्व को चुनौती दे सके। वर्तमान में भी राहुल को अध्यक्ष पद सौंपे जाने के पीछे मुख्य कारण सोनिया गांधी का स्वास्थ्य दिखाई देता है।
राहुल गांधी जनवरी 2013 में कांग्रेस के उपाध्यक्ष बने थे।
देखना होगा कि अध्यक्ष पद संभालने के बाद राहुल किस तरह पार्टी में उठे उन विरोधी स्वरों को शांत कर पाते हैं जो सहजाद पूनावाला जैसे उनके अपने/नजदीकी लोगों ने उठाए हैं।

Share it