Top

ईरान में विरोध प्रदर्शन हुये हिंसक, मरने वालों की संख्या 15+ तक पहुंची

ईरान में विरोध प्रदर्शन हुये हिंसक, मरने वालों की संख्या 15+ तक पहुंचीईरान में विरोध प्रदर्शन हुये हिंसक

दिल्ली/तेहरान (एजेंसी) : ईरान के शहरों में पिछले 4-5 दिन से जारी विरोध प्रदर्शनों ने कल रात को हिंसक रूप धारण कर लिया, सूत्रों के अनुसार अभी तक इस हिंसा में 10 लोग मारे गए। सशस्त्र प्रदर्शनकारियों ने सैन्य अड्डों और पुलिस थानों में घुसने की कोशिश की लेकिन सुरक्षाबलों ने उन्हें खदेड़ दिया। देश में जन आंदोलन से शुरू हुये इन प्रदर्शनों में मरने वाले लोगों की संख्या 15 से ऊपर हो गयी है।
ईरान में वर्ष 2009 में सुधार समर्थक व्यापक रैलियों के बाद यह दूसरा सबसे बड़ा प्रदर्शन है. प्रदर्शन कर रहे लोगों ने ईरान के आतंरिक मंत्री द्वारा दी गई चेतावनी 'अवैध रूप से एकत्रित नहीं हों' को पूरी तरह नजरअंदाज कर दिया. इस सिलसिले में प्राप्त हो रही अधिकांश जानकारियां सोशल मीडिया से ही सामने आ रही हैं जिनकी सत्यता प्रमाणित करना मुश्किल है।
देश की कमजोर अर्थव्यवस्था और महंगाई को लेकर गुरूवार को मशहाद में प्रदर्शन शुरू हुए और कई शहरों तक फैल गए। कुछ प्रदर्शनकारियों ने सरकार और शीर्ष नेता अयातुल्लाह अली खामनेई के खिलाफ नारे लगाए। सैकड़ों लोगों को गिरफ्तार किया गया।
ईरान के सरकारी टेलीविजन चैनल ने लूटे हुए निजी बैंकों, टूटी हुई खिड़कियों, क्षतिग्रस्त की गई कारों और आग लगाए गए ट्रकों की तस्वीरें प्रसारित की। उसने बताया कि रविवार रात को सुरक्षाबलों के साथ झड़पों में 10 लोग मारे गए।
टीवी चैनल ने कहा, ''कुछ प्रदर्शनकारियों ने कुछ पुलिस थानों और सैन्य अड्डों में घुसने की कोशिश की लेकिन सुरक्षाबलों ने उन्हें रोक दिया।'' ईरान ने रविवार को इंस्टाग्राम और लोकप्रिय मैसेजिंग एप्प टेलीग्राम को बंद कर दिया।
राष्ट्रपति हसन रुहानी ने माना कि इस्लामिक रिपब्लिक की चरमराती अर्थव्यवस्था को लेकर लोगों में गुस्सा है लेकिन साथ ही उन्होंने चेतावनी दी कि कानून तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने से सरकार हिचकिचाएगी नहीं।
ईरान के कई शहरों में जारी इन हिंसक प्रदर्शनों के बाद राष्ट्रपति हसन रोहानी ने माना है कि इस्लामिक रिपब्लिक की चरमराती अर्थव्यवस्था और बढ़ती महंगाई को लेकर लोगों में गुस्सा व हताशा है। लेकिन साथ ही उन्होंने चेतावनी दी कि कानून तोड़ने वालों के खिलाफ सरकार कठोर कार्रवाई करने से हिचकिचाएगी नहीं।

Share it