Top

बाली: समुद्र तटों पर कचरे के ढेर के कारण आपात की घोषणा

बाली: समुद्र तटों पर कचरे के ढेर के कारण आपात की घोषणाBali: Garbage on Seashore

ताड़ के पेड़ों से घिरा बाली का खूबसूरत कूटा तट समुद्र में सर्फिंग और तट पर धूप सेंकने के शौकीन पर्यटकों के लिए लंबे समय से आकर्षण का केंद्र रहा है लेकिन इन दिनों कचरे के ढेर इस तट की खूबसूरती पर दाग लगा रहे हैं।
तट पर धूप सेंक रहे लोगों के आस पास प्लास्टिक का कूड़ा और खाने के पैकेट बिखरे पड़े रहते हैं। ऑस्ट्रेलियाई पर्यटक वेनेसा मूनशाइन ने कहा, ''मैं तैरना चाहती हूं लेकिन इसमें तैरना मुझे बिल्कुल पसंद नहीं क्योंकि यहां हर दिन, हर समय कचरा पड़ा रहता है। '' 17,000 से अधिक द्वीपों का यह द्वीपसमूह समुद्री कचरा पैदा करने के मामले में चीन के बाद दुनिया में दूसरे नंबर पर है। इंडोनेशिया में सालाना 12.9 लाख टन कचरा पैदा होता है।
यह समस्या इतनी विकराल हो गयी है कि बीते महीने बाली में जिमबारन, कूटा और सेमियांक जैसे लोकप्रिय समुद्री तटों सहित करीब छह किलोमीटर के समुद्र तट पर कचरे के कारण आपात स्थिति की घोषणा करनी पड़ी।
अधिकारियों ने हर दिन तकरीबन 100 टन कचरे को पास के लैंडफिल तक ले जाने के लिये 700 सफाईकर्मियों और 35 ट्रकों को तैनात किया।
संयुक्त राष्ट्र के पर्यावरण की 'क्लीन सी' मुहिम में शामिल करीब 40 देशों में इंडोनेशिया भी शामिल है, जिनका लक्ष्य समुद्र को दूषित करने वाले प्लास्टिक के कचरों पर लगाम लगाना है।

Share it