Top

अश्वत्थामा हतः अश्वत्थामा हतः

अश्वत्थामा हतः अश्वत्थामा हतःअश्वत्थामा हतः अश्वत्थामा हतः V/s 2G Spectrum Scam

द्रोण बहुत बड़ी चुनौती बन चुके थे पांडवो के लिए, "आखिर गुरु" गुरु जो ठहरा। कृष्ण ने निर्णय कर लिया कि अब द्रोण को भी रणक्षेत्र से विदा करना ही होगा येन-केन-प्रकारेण।
निश्चित हुआ कि अश्वत्थामा जो उनका पुत्र एवं एकमात्र दुर्बलता का कारण था उसी को निमित्त बनाया जाए, अश्वत्थामा नामक हाथी को मारा गया भीम द्वारा और फिर हल्ला मचवा दिया गया "अश्वत्थामा हतः अश्वत्थामा हतः"
समाचार द्रोण तक पहुंचा, वे भी कम घाघ नही थे, युधिष्टिर के पास पहुंचे और पूछ लिया कि क्या हुआ कौन मारा गया" नरो वा, कुंजरो वा", युधिष्ठिर के होंठ हिले भर नही और कृष्ण ने शोर मचवा दिया कोलाहलपूर्ण, भीषण!
जानते बुझते अपूर्ण सत्य बोलते लज्जित युधिष्टिर के लटके चेहरे को देखकर अनिष्ट की आशंका से भीत द्रोण को "कुंजरो" भी "नरो" सुनाई पड़ा और वे विषादग्रस्त होकर बीच रणक्षेत्र हथियार त्याग कर बैठ गए, आगे धृष्टधुम्न ने बाकी का काम निपटा दिया और पांडव विजय की ओर आगे बढ़ चले।
यही "अश्वत्थामा हतः अश्वत्थामा हतः" 2G घोटाले को लेकर भाजपा, मोदी, स्वामी ने कर दिया तो कौनसी गाय मार दी भाई ??
अमाँ यार ! किसी ने सनी लियोन पर आंख मारने का आरोप लगा दिया और सनी को कोर्ट ने इस अपराध में निर्दोष साबित कर दिया तो अब से क्या सुबह-सुबह पांच सतियों के साथ उसका भी नाम लेना पड़ेगा ??
कांग्रेस वो बिल्ली है जिसने इतने चूहे खाये हैं कि अब स्वयं "खुदा" भी चाहे तो उसे पाक साफ साबित नही कर सकता "हज" की तो बात ही क्या ??
तुम "प्याज" के नाम पर सरकार गिरवा दो 'अटल जी' जैसे संत की और जब मोदी तुमको "कुछ भी नही" के नाम पर निपटा दिया तो पेट मे मरोड़े उठने लगी ??
हा नैतिकता ! हा पार्टी विथ डिफरेन्स !
याद है जब एक वोट के लिए अटल जी जैसे अजातशत्रु की सरकार गिराने के लिए तुमने एक शपथ पढ़ चुके मुख्यमंत्री गिरधर गमांग को लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में अनैतिक वोट डलवाया था तब पूरा हिंदुस्तान रोया था तुम्हारी इस कुटिलता पर, आज मोदी ने कुटिलता में तुम्हारे बाप, दादा, नाना सबको पीछे छोड़ दिया।
कुछ नही हुआ बेटा अभी तो शुरुआत है आगे-आगे देखो क्या-क्या नही होता ?
तुम साठ साल से देश की अंतरात्मा को नोंचते रहे दिन रात और आज एक चॉप्टर ने खुद तुम्हारी चोटी खींच डाली तो तुम्हारी आंखों से "रोज" निकल आया ?
जो हुआ ठीक ही हुआ कांग्रेसियों, वैसे भी कहावत है कि चोर के घर चोरी, चोरी नही हेरा-फेरी कहलाती है !
याद रखियो सफेद भालू कपिल सिब्बलवे "दगा किसी का सगा नही !"
और "तुमने कुछ नही किया इसीलिये तुम कुछ भी नही रहे बिना किसी बात के " इसे भी "जीरो लॉस" ही कहते हैं।

Share it