Breaking News

एमपी में पद्मावती अवार्ड की आलोचना करने पर पत्रकार पर मामला दर्ज

एमपी में पद्मावती अवार्ड की आलोचना करने पर पत्रकार पर मामला दर्ज

पद्मावती के सम्मान को लेकर मध्यप्रदेश सरकार शायद करणी सेना से भी ज्यादा संजीदा है. पद्मावती को मध्य प्रदेश की धरती पर रिलीज़ न होने की बात पहले ही सीएम शिवराज सिंह चौहान कह चुके हैं. इसके बाद मध्य प्रदेश सरकार ने राष्ट्रमाता पद्मावती अवॉर्ड देने की घोषणा की. इस अवॉर्ड पर कटाक्ष करने के चलते एक पत्रकार पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया.
मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह रावत के अनुसार ये अवॉर्ड बलात्कार पीड़िता को दिया जाएगा. इस घोषणा पर नीमच के पत्रकार जिनेंद्र सुराना ने फेसबुक पर लिखा, 'मध्य प्रदेश में रेप करवाओ और पद्मावती अवार्ड पाओ. सरकार की नई घोषणा.' इस पोस्ट पर कई लोगों ने अलग-अलग तरह से प्रतिक्रिया दी और नाराजगी जाहिर की. एमपी पुलिस ने इसपर स्वतः संज्ञान लेते हुए सुराना पर मामला दर्ज कर लिया. सुराना पर बलात्कार के लिए उक्साने जैसी कई गंभीर धाराएं लगाई गई हैं.
पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) एके पांडे ने रविवार को बताया कि जिनेंद्र सुराना की पोस्ट काफी भद्दी और दूसरों को रेप के लिए प्रेरित करने वाली है. इसलिए स्वत: संज्ञान में लेते हुए पुलिस ने कोतवाली थाने में प्रकरण दर्ज कर लिया है. इस मामले की जांच की जा रही है. इसके बाद कार्रवाई की जाएगी.
जबकि सुराना का कहना है कि ये सिर्फ एक व्यंग्य था. अगर व्यंग्य करने पर पुलिस गिरफ्तार कर लेगी तो लोग बोलेंगे कैसे.

Share it