Pawan Saxena

Pawan Saxena

संभव है कि मेरा सच आपको आकर्षित न करे ! पर सच कहने की अकुलाहट और समर्पण को सम्मान अवश्य दे !!


  • ये ढोल पीटने का समय नहीं है : यह भारत-पाक की असली जंग ही है...

    देश मे रह रहे करोड़ों लोग और कश्मीर घाटी के अधिकांश लोग इस 71 साल से चल रही जंग में पाकिस्तान के साथ खड़े हैं... उनकी मनःस्थिति स्पष्ट है कि हिन्दुयुक्त भारत उनका दुश्मन है.. जिसको गज़वा ए हिन्द के तहत युद्ध के इस अंतिम चरण में खत्म कर दिया जाना है... इस खूनी शतरंज में एक तरफ युद्ध विशेषज्ञ... अंतहीन...

  • तारीख पर तारीख... एक बार फिर.. 35(A) पर सुनवाई टली नहीं अपितु टाली गई ?

    सुप्रीम कोर्ट को दिल से श्रद्धांजलि... जैसी की उम्मीद थी कि 35A पर सुनवाई एक बार पुनः टाल दी गई... आज केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर के वकील के साथ मिलकर सुप्रीम कोर्ट में चतुराई और चालाकी से भरी यह दलील रखी कि जम्मू कश्मीर में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ होने वाली है अतः 35 A हटाने की...

  • कैसा जश्न? कैसी स्वतंत्रता? 15 अगस्त 1947!

    असली जायज़ जश्न होता है 14 अगस्त को पाकिस्तान में। हाँ, उन्होंने पाकिस्तान को भारत से छीना था, 14 अगस्त 1947 को। सामूहिक भारत की कुल 20 % आवादी ने भारत का 35 से 40 प्रतिशत हिस्सा भारत से छीन लिया था..उनके पास जिन्ना था। हमारे पास हिजड़े थे... 50 लाख सनातन हत्याएं हुईं (नरेंद्र कोहली के शब्दों में)...

  • "नदी के दो किनारे" और नक़ाब से झाँकती मजबूर आँखें

    इंटरमीडिएट कालेज आमने सामने थे.. उनका गर्ल्स कालेज तो उसका बॉयज कालेज था.... इंटर में गणित की ट्यूशन भी वह साथ-साथ पढ़ते थे.. एक ही टीचर से.. एक ही बैच में.. वह फर्स्ट डिवीजन पास हुईं और वह बमुश्किल सेकेंड डिवीजन... शहर में डिग्री कालेज एक ही था.. वह बीएससी में गईं और उसने BA की राह की पकड़ी... BA...

  • भीमा कोरेगांव हिंसा केस में 5 माओवादी दिल्ली, मुंबई नागपुर से गिरफ्तार

    भीमा कोरेगांव मामला: पांच माओवादी पुणे पुलिस की गिरफ्त में.. कांग्रेस फाइनेंसर और कूटनीतिक मददगार के रूप में सामने आई.. जिग्नेश मेवानी, उमर खालिद... अनेक पाकिस्तान... कश्मीर के हिंसा समर्थकों के नाम भी कल एक प्रतिष्ठित 'मीडिया चैनल' ने उजागर किये हैं.... पुणे पुलिस ने कल दिल्ली, मुंबई और नागपुर से...

  • श्रीदेवी की मौत.. अनसुलझी.. गुत्थी ?

    श्रीदेवी अपनी बेटी और बोनी कपूर के साथ दुबई विवाह समारोह में गईं ! विवाह संपन्न हुआ... श्रीदेवी वहीं रुक गईं एक होटल में अकेले... क्यो रुक गईं... क्योंकि उन्हें अपनी बड़ी बेटी के लिए 'दुबई में शॉपिंग' करनी थी.. गौर फरमाए कि बेटी के लिए शॉपिंग करने के लिए छोटी बेटी और बोनी कपूर साथ मे होते तो क्या...

Share it
Top