ब्रिटिश पासपोर्ट पर जर्मनी में छुपकर आखिर क्या कर रहे थे राहुल गांधी?

आज सुबह से भाजपा नेता डॉ. सुब्रहमनियन स्वामी की वजह से तहलका मचा हुआ है।

स्वामी ने अपने ट्वीट में लिखा है- 'बमबाइनो' जर्मनी से ब्रिटिश पासपोर्ट पर बाहर निकला है। स्वामी ने 'बमबाइनो' के साथ हवाई यात्रा कर रहे तीन यात्रियों के हवाले से इस जानकारी को सार्वजनिक किया है। स्वामी ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मांग की है कि वह तत्काल जर्मन सरकार से पूछे कि भारत का एक नागरिक ब्रिटिश पासपोर्ट पर जर्मनी में क्या कर रहा था?

यहाँ समझने वाली बात है कि 'बमबाइनो' इटालियन शब्द है, जिसका अर्थ होता है नवजात बच्चा। यह भी गौर करने वाली बात है कि डॉ स्वामी राहुल के लिए ट्वीटर पर अकसर बुदधू शब्द का इस्तेमाल करते रहे हैं। यहाँ यही माना जा रहा है कि डॉ. स्वामी ने राहुल गांधी के लिए 'बमबाइनो' शब्द का इस्तेमाल किया है। इसकी दो वजह है। पहला, इटली में राहुल का ही ननिहाल है। दूसरा स्वामी अदालत में यह मामला उठा चुके हैं कि राहुल गांधी के पास ब्रिटेन का न केवल पासपोर्ट है, बल्कि उनका ब्रिटेन में बैंक एकाउंट भी है, जिसमें उनका नाम राहुल विंची है।

ज्ञात हो कि भारत में दोहरी नागरिकता का प्रावधान नहीं है। ऐसे में राहुल गांधी के पास ब्रिटिश पासपोर्ट की जानकारी की जांच गृहमंत्रालय को करनी चाहिए। और खुद को 2019 के लिए प्रधानमंत्री के रूप में प्रमोट कर रहे राहुल गांधी को भी आगे आकर इस स्थिति पर अपना स्पष्टीकरण देना चाहिए।

यह भी गौर करने वाली बात है कि सोनिया और राहुल गांधी की हर विदेश यात्रा बेहद संदिग्ध रही है! राहुल गांधी अपनी मां सोनिया गांधी की रहस्यमयी बीमारी का रहस्यमी इलाज कराने विदेश गये थे। फिर एक दिन के लिए मध्यप्रदेश की किसान रैली में पहुंच गये और फिर आज जर्मनी में ब्रिटिश पासपोर्ट के साथ देखे गये!

इस बीच ED ने सोनिया गांधी के राजनैतिक सलाहकार अहमद पटेल के परिवार से जुड़ी कंपनी संदेसरा ग्रुप की स्टर्लिंग बायोटेक पर बैंक लोन घपले में कार्रवाई करते हुए 4700 करोड़ रुपये की संपत्ति को जब्त किया है। सोनिया गांधी की मनमोहन सरकार के समय अहमद पटेल के दामाद की संलिप्तता वाली यह कंपनी आंध्रा बैंक का 5000 हजार करोड़ रुपये का लोन लेकर डकार चुकी है।

गौरतलब है कि कल से राहुल गांधी का एक संदिग्ध वीडियो भी वायरल हो रहा है, जो लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट का है। राहुल गांधी इस वीडियो में मानसिक विचलन या नशे का शिकार लग रहा है। ऐसे में सोनिया और राहुल गांधी की यह संदिग्ध गतिविधि देश की जनता के मन में संदेह पैदा कर रहा है! इसका स्पष्टीकरण सोनिया-राहुल खुद करें तो ज्यादा बेहतर होगा।

Share it
Top