नजमा हेपतुल्ला, हुकूमदेव नारायण, गुलाम नबी आजाद सहित पांच सांसदों को मिला "उत्कृुष्ट सांसद पुरस्कार"

राष्ट्रेपति श्री रामनाथ कोविंद द्वारा बुधवार को संसद के केन्द्रीय कक्ष में वर्ष 2013, 2014, 2015, 2016 एवं 2017 के उत्कृोष्ट् सांसदों को सम्मा नित किया। 2013 का उत्कृ ष्ट सांसद पुरस्काीर नरेंद्र मोदी सरकार की अल्पसंख्यक मामलों की पूर्व मंत्री व वर्तमान में मणिपुर की राज्यपाल डॉ॰ नजमा हेपतुल्ला को दिया गया।

वर्ष 2014 के लिए उत्कृाष्ट सांसद पुरस्कार बिहार के मधुबनी से सांसद श्री हुकुमदेव नारायण यादव को देकर सम्मानित किया गया। जबकि वर्ष 2015 का सम्मान कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद को, 2016 के लिए TMC के सांसद दिनेश त्रिवेदी और 2017 का सम्मान भतृहरि माहताब दिया गया। ये सम्मातन समारोह संसद के केन्द्रीय कक्ष में सम्पन्न हुआ उस समय समारोह में उपराष्ट्र0पति वेंकैया नायडू, माननीय लालकृष्ण आडवाणी, लोकसभा अध्य7क्ष सुमित्रा महाजन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही लगभग सभी पार्टियों के सांसद उपस्थित थे।

समारोह में एक समय ऐसा आया जब केन्द्रीय कक्ष में उपस्थित सभी लोग भावुक हो गए क्योंकि जब श्री हूकुम देव जी का नाम सर्वश्रेष्ठ सांसद के रूप में बोला गया और वे अपना पुरस्कार लेने आए तो उससे पहले उन्होंने पुरस्कार से संबन्धित अपने विचार प्रकट किए और जिन शब्दों में उन्होंने अपने विचार रखे उनकी भावना ही कुछ इतनी भावुकता पूर्ण थी कि केन्द्रीय कक्ष का वातावरण ही कुछ समय के लिए भावुक हो गया।

कुछ पुरस्कृत सांसदों का एक परिचय :

डॉ॰ नज़मा हेपतुल्ला : डॉ॰ नज़मा हेपतुल्ला बहुत समय से भाजपा ससे जुड़ी हैं वे मोदी सरकार के अंतर्गत अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री भी रह चुकी हैं। इस समय आप मणिपुर राज्य की राज्यपाल हैं। इससे पहले वे कांग्रेस के साथ थी और मुंबई कांग्रेस कमेटी की महासचिव और उपाध्यक्ष रह चुकी हैं। डॉ॰ हेपतुल्लाे वर्ष 1985 से 1986 तक एवं 1988 से 2007 तक राज्यसभा की उपसभापति का पद भी संभाल चुकी हैं।

डॉ॰ हेपतुल्ला का जन्मस 13 अप्रैल 1940 को भोपाल में हुआ था। ज्ञात रहे आप मौलाना अबुल कलाम आजाद के खानदान से संबंध रखती हैं वे उनकी नातनी हैं। डॉ॰ हेपतुल्ला हृदय रोग विज्ञान में पीएचडी किया है। काफी समय तक कांग्रेस की सांसद रही डॉ॰ हेपतुल्ला ने श्रीमती सोनिया गांधी के साथ बिगड़ते सम्बन्धों के कारण ही 2004 कांग्रेस को छोड़कर भाजपा का दामन थामा।

श्री हुकूमदेव नारायण यादव : 17 नवंबर 1939 को बिहार के दरभंगा जिला के बिजूली में जन्मेथ हुकुमदेव नारायण यादव काफी लोकप्रिय सांसद माने जाते हैं। वो भाजपा की ओर से बिहार के मधुबनी से जीतकर लोकसभा पहुंचे हैं। सबसे पहले हुकुमदेव नारायण यादव 1977 में लोकसभा के लिए चुने गये।

Share it
Top